Saturday, December 31, 2005

नव वर्ष मंगल मय हो




मंगल मय नव वर्ष हो, मंगल हर प्रभात हो
सिर्फ खुशियाँ ही साथ हो, सिर्फ खुशियो क एहसास हो
सार्थक हो हर प्रयास इस नव वर्ष मे
जिवन के सफर मे कभी न कोई अवसाद हो


सूरज देव

Tuesday, December 20, 2005

मोहब्बत पर गिरी गाज़

सोमवार को मेरठ के एक पार्क मे प्रेमी युगलो तथा नव विवाहितो पर पुलिस ने अपना हाथ साफ किया | प्रायः बडे अपराध को रोकने मे नाकाम रहने वाली तथा राजनीतिक हाथो की मोहरा पुलिस, मासूमो को पीट कर न जाने कौन सी बहादूरी दिखा रही है | आम लोगों मे पुलिस की छवि वैसे ही उतनी अच्छी नही है, क्या यह घटना उसकी छवि को और धुमिल नही करेगा?

Thursday, December 01, 2005

कितने सक्षम हैं हम

रीडीफ के एक लेख के अनुसार भारत मे हर साल ३५०००० इन्जीनियर्स पास होते हैं, लेकिन उनमें से केवल २५% ही नौकरी के योग्य होते हैं| मशरूम की तरह उग रहे इन्जीनियरींग कालेजो की संख्या १२०८ को पार कर गयी है, लेकिन क्या किसी ने उनकी संख्या की तरह उनमे शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाने की सोची है? हम Quantity मे तो बढ रहे हैं, लेकिन हमारी Quality घट रही है| यदि हाल यही रहा तो आने वाले भविष्य मे बेरोजगार इन्जीनियर्स का क्या हाल होगा?


http://in.rediff.com/money/2005/nov/28bspec.htm

http://in.rediff.com/money/2005/nov/29bspec.htm

http://in.rediff.com/money/2005/nov/30bspec.htm

Tuesday, October 25, 2005

इन्टरनैट विचरण

इन्टरनैट पर विचरण करना है, StumbleUpon की सहायता लीजिये, अपनी पसंद चुनिये और क्लिक करते जाईये |

व्याकरण व्याख्यान 73 घंटे बिन व्यवधान

व्याकरण व्याख्यान 73 घंटे बिन व्यवधान: "नामचीन होने की ख़्वाहिश लोगों से क्या-क्या नहीं कराती है. मुंबई के एक कॉलेज में पढ़ाने वाले संजय कुमार सिन्हा पर भी सवार थी एक धुन. लेकिन क्या?"

Sunday, October 16, 2005

असम्भव हो हर कार्य जरुरी नही

चाहते अब बुलन्द होने को मचल रही हैं
सोती अरमा आसमा छूने को मचल रही हैं
लग रहा है असर कर रही है दुआ अपनो की
बूझती लौ अब नयी रोशनी लिये मचल रही हैं

---------------------------------------------

विश्वास बढा है विश्वास से
साथ बढा है साथ से
अगर हाथ दो मेरे हाथ मे
बदल देगें दुनिया बातो बात से

---------------------------------------------

सार्थक हो हर प्रयास जरुरी नही
पूरी हो हर आस जरुरी नही
मगर सच है ये भी वही
असम्भव हो हर कार्य जरुरी नही

-------------------------------------------

है विश्वास अपने कर्मो पर
किस्मत भी उतनी बूरी हो नही सकती
पूरा होगा हर सपना
दुआये अपनो की अधूरी हो नही सकती

Thursday, October 06, 2005

संचित राशि

चाहे तुम कुछ ना करो किसी के लिए, पर करके एहसान न जतना
छोटे हो सपने किसी के, उसे हँसी में मत उडाना
हँसते रहना जिन्दगी भर तुम, पर किसी के बेबसी पर कभी न मुस्कराना
पकडना जो दामन किसी का, उम्र भर का साथ निभाना
कहते है अब बोझ बन गये हैं रिस्ते, फिर भी बडो को देख कर सर झुकना
जो कुछ कर सको करना सबके लिये, पर मिलेगा तुम्हे कुछ उमीद मत लगाना
ये संचित राशि है जो कतरा कतरा भरता है,
तुम्हारे आज के जलाये दिये से कल तम्हारा ही घर जगमग जगमग करता है


सूरज देव

Tuesday, October 04, 2005

बढते कदम

इन बढते हुये कदमो को न रोकना कभी
मुश्किलो को देख कर हिम्मत न छोडना कभी
लोग कहेगे बहुत कुछ सून के न बहकना कभी
रास्ते कठीन हो फिर भी मन्जिल से पहले न रुकना कभी
कठीन कुछ भी नही है, कह के असम्भव पीछे न हटना कभी
आसान हो जायेगी मंजिल कदम पहला तो बढाना कभी
आसमाँ आ जायेगा हाथ मे जी से हाथ को ऊपर उठाना कभी
कारवाँ बन ही जायेगा कदम अपना आगे बढाना कभी

Wednesday, August 10, 2005

TotalDefiance


TotalDefiance
Originally uploaded by My Image.
कभी भी हिम्मत न हारें

दिलकश मजबूरी

हर पल उनके दिदार का इन्तजार रहता है
दिल चाहता है मगर होठ कुछ न कहता है
कितनी दिलकश है ये दिल की मजबूरी
सामने मजिंल है और है कोसो की दूरी

Saturday, July 30, 2005

Victim of spamming

I got this mail as a forward, which tells story of a forward mail victim, its worth to read.


Mail from a frustrated victim of spamming............

I wanted to thank all my friends and family who have forwarded

chain letters to me in 2003 & 2004. Because of your kindness:

* I stopped drinking Coca Cola after I found out that it's good for
removing toilet stains.

* I stopped going to the movies for fear of sitting on a needle infected
with AIDS.

* I smell like a wet dog since I stopped using deodorants because they
cause cancer.

* I don't leave my car in the parking lot or any other place and sometimes
I even have to walk about 7 blocks for fear that someone will drug me with
a perfume sample and try to rob me.

* I also stopped answering the phone for fear that they may ask me to dial
a stupid number and the I get a phone bill from hell with calls to Uganda,
Singapore and Tokyo.

* I also stopped drinking anything out of a can for fear that I will get
sick from the rat feces and urine.

* When I go to parties, I don't look at any girl no matter how hot she is,
for fear that she will take me to a hotel, drug me then take my kidneys and
leave me taking a nap in a bathtub full of ice.

* I also donated all my savings to the Amy Bruce account. A sick girl that
was about to die in the hospital about 7,000 times. (Funny that girl, she's
been 7 since 1993...)

* I went bankrupt from bounced checks that I made expecting the $15,000
that Microsoft and AOL were supposed to send me when I participated in
their special e-mail program would arrive soon.

* My free Nokia phone never arrived and neither did the free passes for a
paid vacation to Disneyland.

IMPORTANT NOTE:

If you do not send this e-mail to at least 1200 people in the next

10 seconds, a bird will crap on your head today at 5:30pm.

Tuesday, July 26, 2005

Friday, July 22, 2005

स्वागत्

स्वागत् है आपका, मेरे इस नये Blog मे!!!

कई बार जब कुछ पढता या देखता हूँ, तो मन कहता है, इसे और लोग भी पढे या देखे, यह Blog, उसी के लिए एक छोटा सा पर्यास है

सूरज देव सिहं